Aapnu Gujarat
બિઝનેસ

अब स्मार्टफोन्स हो सकते हैं रैन्समवेयर के अगले टार्गेट

भारत की साइबर सिक्यॉरिटी एजेंसी ने चेताया है कि कम्प्युटर्स को निशाना बनाने के बाद अब हैकर्स स्मार्ट फोन्स पर रैन्समवेयर अटैक कर सकते हैं । सीईआरटी-इन ने यह भी कहा कि वानाक्राई रैन्समवेयर का खतरा अभी बरकरार है । एजेंसी का कहना है कि ग्लोबल रैन्मसवेयर अटैक से बचने के लिए भारत लापरवाही नहीं बरत सकता क्योंकि यह नए रूप में सामने आ सकता है । इंडिया कम्प्युटर इमर्जेंसी रेस्पॉन्स टीम (सीईआरटी-इन) के डायरेक्टर जनरल संजय बहल ने बताया, भले ही दुनियाभर में रैन्समवेयर अटैक करने वाले वानाक्राई वाइरस का भारत पर कम असर हुआ हैं, मगर इसके कई मॉड्यूल्स अभी भी सामने आ सकते हैं और मुश्किलें खडी कर सकता हैं । वानाक्राई वाइरस ने शुक्रवार से लेकर अब तक विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम पर रन करने वाले हजारों लैपटॉप्स और डेस्कटॉप्स को इन्फेक्ट किया है । बहल ने कहा कि खतरा अभी टलता हुआ नहीं नजर आता क्योंकि साइबर अटैकर्स का अगला टारगेट स्मार्टफोन्स हो सकते हैं । उन्होंने कहा एंड्रॉयड पूरी दुनिया का सबसे बडा ऑपरेटिंग सिस्टम । कहा नहीं जा सकता है कि असर इस पर अटैक हुआ तो क्या होगा । पर पूरी तरह से अलग सिचुएशन होगी । सीईआरटी-इन इसके संभावित हमले के लिए पहले से ही तैयारी कर रहा है ।
बहल ने कहा कि हैकर्स हमेशा दो कदम आगे चलते हैं । हमें नहीं पता कि आगे क्या होगा, इस अटैक का यहीं पर अंत हो जाएगा या फिर नए रूप में यह फिर से सामने आएगा । हमने वीकेंड पर बैंकों, पावर यूटिलिटीज, रेलवेज और अन्य इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रवाइडर्स को अलर्ट किया ताकि वे सोमवार को जब काम शुरु करे तो साइबर अटैक को लेकर सचेत रहें ।

Related posts

બજાજ લાવી રહ્યું છે ટાટા નેનો કરતાં પણ સસ્તી કાર

aapnugujarat

अमेजन और फ्लिपकार्ट ने एफडीआई का किया उल्लंघन

aapnugujarat

એચ-૧બી વીઝામાં નિયંત્રણથી અમેરિકી કંપનીઓની જ થશે ઉંઘ હરામ

aapnugujarat

Leave a Comment

URL