37 C
Ahmedabad
September 21, 2020
International News

रूसी वैक्सीन की सफलता पर भरोसा करना मुश्किल : WHO

Font Size

रूस ने कोरोना वायरस की दुनिया की पहली वैक्‍सीन बना ली है। रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने खुद इसका ऐलान किया है। वहीं अब इसके पंजीकरण के दौरान पेश किए गए दस्तावेजों से कई खुलासे हुए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक दस्तावेजों के अनुसार, वैक्सीन की सुरक्षा को लेकर पूरी क्लीनिकल स्टडी हुई ही नहीं। ट्रायल के दौरान 42 दिन में केवल 38 वॉलंटियर्स को वैक्सीन की खुराक दी गई, जबकि ट्रायल के तीसरे चरण पर कोई जानकारी सामने नहीं आई है। रूस का दावा था कि वैक्सीन के कोई गंभीर साइड इफेक्ट नहीं देखे गए हैं, जबकि पंजीकरण के दौरान प्रस्तुत किए गए दस्तावेज बताते हैं कि 38 में से 31 लोगों में 144 तरह के साइडइफेक्ट दिखे।
वहीं डबल्यूएचओ को भी रूस की वैक्सीन पर भरोसा नहीं है। डबल्यूएचओ का भी कहना है कि रूस ने वैक्सीन बनाने के लिए तय दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया, ऐसे में इस वैक्सीन की सफलता पर भरोसा करना मुश्किल है।
जानकारी के लिए बता दे कि मंगलवार को पुतिन ने ऐलान किया कि रूस ने दुनिया की पहली सफल कोरोना वायरस वैक्सीन बना ली है, जिसे रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय से मंजूरी मिल गई है। साथ ही पुतिन ने कहा कि उनकी बेटी ने भी इस वैक्सीन को लिया है। उनकी बेटी को इस वैक्सीन का टीका लगाया गया है। इसी के साथ पुतिन ने कहा कि आम लोगों को जनवरी में वैक्सीन दी जाएगी।
एक न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक, इस वैक्सीन को मॉस्को के गामेल्या इंस्टीट्यूट ने डेवलेप किया है जिसे रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने वैक्सीन को सफल करार दिया। इसी के साथ पुतिन ने ऐलान किया कि रूस में जल्द ही इस वैक्सीन का प्रोडक्शन शुरू किया जाएगा और बड़ी संख्या में वैक्सीन की डोज़ बनाया जाएगा। बता दें कि पुतिन ने बताया कि उनकी बेटी को कोरोना वायरस हुआ था, जिसके बाद उसे ये नई वैक्सीन दी गई, कुछ देर के लिए उसका तापमान बढ़ा लेकिन अब वो बिल्कुल ठीक है। दुनियाभर में कोरोना का कहर जारी है और सभी देश कोरोना की वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं।
वैक्सीन बनाने में अमेरिका, ब्रिटेन, इजरायल, चीन, रूस, भारत जैसे देश शामिल हैं. भारत में कोरोना वायरस वैक्सीन अभी ह्यूमन ट्रायल स्टेज में है, ये वैक्सीन बनाने की दूसरी स्टेज है। ऐसे में रूस की दवा अगर सफल रहती है तो यह दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन होगी और डबल्यूएचओ की ओर से इस वैक्सीन को मंजूरी मिलती है तो यह लोगों के लिए भी बड़ी राहत होगी।

Related posts

साऊथ ऐशियन स्पीकर्स समिट के घोषणापत्र में पाक के दावों को नहीं मिली तवज्जो

aapnugujarat

Firing on bus convoy carrying minority Muslim voters in northwest Sri Lanka

aapnugujarat

ઈઝરાયેલની સાથે શાંતિ કરાર માટે સાઉદીએ શરત રાખી

editor

Leave a Comment

UA-96247877-1