Aapnu Gujarat
શિક્ષણ

नीट परीक्षा में गुजराती माध्यम के विद्यार्थियों को अन्याय होगा :केन्द्र और राज्य को हाईकोर्ट का नोटिस

नैशनल एलिजीबिलीटी कम एऩ्ट्रन्स टेस्ट (एनईईटी-नीट) की हाल ही में ली गइ परीक्षा में गुजराती माध्यम के विद्यार्थियों को अन्याय हुआ होने का मुद्दा उपस्थित कर एक अरजन्ट रिट अर्जी गुजरात हाईकोर्ट में दाखिल हुई थी । जिसमें आज सुनवाई के दौरान कोर्ट ने केन्द्र और राज्य सरकार समेत के संबंधितों को कारणदर्शक नोटिस जारी की हैं  और आगे की जांच जून महीने में रखी गई हैं । सीबीएसई (सेन्ट्रल बोर्ड) द्वारा ७ मई के दिन ली गइ नीट की परीक्षा में गुजरात के विद्यार्थियों को भारी अन्याय हुआ है । क्योंकि उनकी परीक्षा में गुजराती और अंग्रेजी माध्यम में पूछे गए सवाल अलग अलग थे । इतना ही नहीं अंग्रेजी माध्यम से अधिक गुजराती माध्यम का पेपर मुश्किल था । जिसके कारण गुजराती माध्यम के विद्यार्थियों को इस परीक्षा में काफी अन्याय हुआ है । विद्यार्थियों को समान मौका और एक समान ट्रिटमेन्ट के सत्ताधिकारियों के दावे नीट की परीक्षा में गलत साबित हो गए है । सत्ताधिकारियों के भेदभाव वाले रवैये के कारण गुजराती माध्यम के विद्यार्थियों के परिणाम पर गंभीर असर होने की संभावना है । और इसके तहत होने वाले पीजी मेडिकल और डेन्टल के प्रवेश प्रक्रिया में भी गुजराती माध्यम के विद्यार्थियों को अन्याय होने की संभावना है । हाईकोर्ट में इस मामले में सत्ताधिकारियों को आवश्यक आदेश करने चाहिए । अर्जीकर्ता की पेशकश सुनने के बाद हाईकोर्ट ने उपरोक्त नोटिस दी हैं और आगे की सुनवाई जून महीने में रखी हैं।

Related posts

प्रधानमंत्री मोदी ने टीचर्स डे पर शिक्षकों के योगदान की सराहना की

editor

હૂંફ ફાઉન્ડેશન ગરીબ વિદ્યાર્થીઓને નિઃશુલ્ક ચોપડા વિતરણ કરશે

aapnugujarat

कक्षा १२ सामान्य प्रवाह : अहमदाबाद शहर का ६५.७२ और ग्रामीण का ६१.२१ प्रतिशत रिजल्ट

aapnugujarat

Leave a Comment

URL