Aapnu Gujarat
શિક્ષણ

नीट परीक्षा : गुजराती माध्यम के विद्यार्थियों को अन्याय : गुजरात हाईकोर्ट में तत्काल याचिका

नैशनल एलिजीबिलीटी कम एऩ्ट्रन्स टेस्ट (एनईईटी-नीट) की हाल ही में ली गइ परीक्षा में गुजराती माध्यम के विद्यार्थियों को अन्याय हुआ होने का मुद्दा उपस्थित कर एक अरजन्ट रिट अर्जी गुजरात हाईकोर्ट में दाखिल की गई है । हाईकोर्ट को इस मेटर का अरजन्ट हियरिंग शुरु की जाए इस मुद्दे पर मामलें की आगे की सुनवाई २६ मई के दिन रखी गई है । सीबीएसई (सेन्ट्रल बोर्ड) द्वारा ७ मई के दिन ली गइ नीट की परीक्षा में गुजरात के विद्यार्थियों को भारी अन्याय हुआ है । क्योंकि उनकी परीक्षा में गुजराती और अंग्रेजी माध्यम में पूछे गए सवाल अलग अलग थे । इतना ही नहीं अंग्रेजी माध्यम से अधिक गुजराती माध्यम का पेपर मुश्किल था । जिसके कारण गुजराती माध्यम के विद्यार्थियों को इस परीक्षा में काफी अन्याय हुआ है । सभी विद्यार्थियों को एक समान मौका और एक समान ट्रिटमेन्ट के सत्ताधिकारियों के दावे नीट की परीक्षा में गलत साबित हो गए है । सत्ताधिकारियों के भेदभाव वाले रवैये के कारण गुजराती माध्यम के विद्यार्थियों के परिणाम पर गंभीर असर होने की संभावना है । और इसके तहत होने वाले पीजी मेडिकल और डेन्टल के प्रवेश प्रक्रिया में भी गुजराती माध्यम के विद्यार्थियों को अन्याय होने की संभावना है । इस हालात में हाईकोर्ट में इस पुरे मामले में सत्ताधिकारियों को आवश्यक आदेश करने चाहिए ।

Related posts

कक्षा-११ साइन्स पहली-दूसरी टेस्ट में २५ मार्क्स के एमसीक्यू

aapnugujarat

१०वी की पूरक परीक्षा का परिणाम सिर्फ ९ फीसदी

aapnugujarat

कर्नाटक में 1 अक्टूबर से खुलेंगे कॉलेज

editor

Leave a Comment

UA-96247877-1