Aapnu Gujarat
બિઝનેસ

इस वित्त वर्ष में पावर सरप्लस बन सकता हैं भारत

भारत इस वित्त वर्ष में ही पावर सरप्लस देश बन सकता है । अप्रैल की बात करे तो देश में उर्जा की कमी और पीक घंटो में बिजली घाटा १ प्रतिशत से भी कम है । कई राज्यो में अप्रैल में बीजली घाटा जीरो रहा । यह जानकारी केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण ने जारी की है । प्राधिकरण के डेटा के मुताबिक, अप्रैल महीने में उर्जा की कमी ०.५ प्रतिशत रही । पिछले साल अप्रैल में यह १.४ प्रतिशत थी । सेंट्रल इलेक्ट्रिसीटी अथोरिटी के मुताबिक, अप्रैल में उर्जा की कमी देश के पश्विमी भागो में ०.१ प्रतिशत थी । वहीं उत्तर पूर्वी भागो में यह कमी ४.५ प्रतिशत थी और उत्तरी भागो में यह १.५ प्रतिशत रही । उर्जा मंत्रालय से जारी डेटा से पत्ता चला कि कई राज्यो में उर्जा की कमी न के बराबर है और पीक घंटो में उर्जा घाटा भी नहीं है । ये राज्य है । छत्तीसगढ, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक मध्य प्रदेश ओडिशा, पंजाब, सिक्किम, त्रिपुरा और पश्विम बंगाल । केंद्र पर शासन कर रही बीजेपी अब युपी में भी सरकार बना चुकी है । युपी में उर्जा की कमी अप्रैल में १ प्रतिशत रही । अप्रैल २०१६ में यह १४ प्रतिशत थी । केंद्रीय विद्युत प्रधिकरण की लोड जेनरेशन बैलेंसिग रिपोर्ट के मुताबिक भारत २०१७-१८ में पावर सरप्लस देश बन जाएगा ।

Related posts

એર ઈન્ડિયાને બેલઆઉટ પેકેજ આપવા સરકારની વિચારણા

aapnugujarat

आर्थिक संकट से गुजर रही टैलीकॉम इंडस्ट्री के लिए योजना तैयार करने में जुटी सरकार

aapnugujarat

ICICI બેન્કની કામગીરીમાં ઢગલાબંધ ખામીઓ

aapnugujarat

Leave a Comment

UA-96247877-1