Aapnu Gujarat
બિઝનેસ

विशाल सिक्का ने खारिज की इन्फोसिस कंपनी के शेयर ब्रिकी की खबर

इन्फोसिस के सीईयो विशाल सिक्का ने प्रमोटरो की और से कंपनी के सारे शेयर बेचने की खबरो को नकार दिया है । इस खबर के बाद पहली बार इन्फोसिस की और से इस स्तर की प्रतिक्रिया आई है । टीओआई की खबर में कहा गया है कि एन आर नारायणमूर्ति समते इन्फोसिस के सारे संस्थापक अपने सारे शेयर बेचने पर विचार कर रहे है । ईटी नाउ की ओर से भेजे गए ईमेल के जवाब में सिक्का ने कहा कि चुंकि उन्हें उनके फैसलो पर पुरा यकीन है । जब एन आर नारायण मूर्ति ही शेयर बिक्री की खबर की बात को खारिज कर चुके है, तो मीडिया को ऐसी अफवाहे नहीं फैलानी चाहिए । सिक्का ने कहा, इन्फोसिस के सारे संस्थापक और खासकर मूर्ति, बेहद योग्य, प्रतिष्ठित और सुलझे व्यक्ति है । ये भारतीयो की पुरी पीढी के साथ साथ दुसरों के भी हीरो है, खासकर मुर्ति । मुझे मूर्ति ने ही नौकरी दी थी और मैं इन्फोसिस में उन्हीं की बदौलत आया । मैं उनके फैसलो पर पुरी निष्ठा के साथ यकीन करता हूं । उनके निर्णय उद्देश्यो एवं मुल्यो की गहरी समझ से प्रेरित होते है । उन्होंने आगे कहा, जैसा कि कहा जा चुका है कि मूर्ति ने इस अफवाह का स्पष्ट तौर पर खंडन कर दिया है, मैं आपसे और आपके सहयोगियों से इसे अब और नहीं फैलाने का आग्रह करता हूं । इन दिनो वैसे ही बहुत शोर शराबा हो रहा है और हम पहले से ही चुनौतीपूर्ण वातावरण में उद्देश्यपूर्ण वृद्धि के लिए जोर लगा रहे हैं तो ये बाते हमारे बिजनस बाधित करती है । गौरतलब है कि प्रमोटरों द्वारा शेयर बेचने की संभावना से जुडी खबर तब आई है जब कुछ महीने पहले ही इन्फोसिस सीईओ विशाल सिक्का और को काउंडर नारायण मूर्ति के बीच मनमुटाव की बात सामने आई । इससे पहले मूर्ति ने सिक्का और दुसरे बडे अधिकारीयों की भारी भरकम सैलरी, कंपनी छीडने वाले सीएफओ राजीव बंसल को दिए गए बडे पैकेज के हवाले से कंपनी के काम काज के तौर तरीको एवं इसकी मुल भावना में आए बदलाव पर गंभीर चिंता जताई थी ।

Related posts

उर्जित पटेल के नेतृत्व में एमपीसी निर्णय करते है

aapnugujarat

FPI દ્વારા મે મહિનામાં ૩૨૦૭ કરોડ પાછા ખેંચાયા

aapnugujarat

Implementation of ADR must be totally different from the existing legal system: Hon’ble Mr. Justice J Chelameswar

aapnugujarat

Leave a Comment

UA-96247877-1