Aapnu Gujarat
તાજા સમાચાર રાષ્ટ્રીય

देश के सबसे वजनी रोकेट जीएसएलवी मार्क-३ का प्रक्षेपण

भारतीय अंतरिक्ष संगठन ने भारी भरकम सैटेलाइट लोन्च वीइकल जीएलएलवी मार्क-३ के प्रक्षेपित कर एक और बडी उपलब्धि हासिल कर ली है । भारत के सबसे वजनी रोकेट को सोमवार को शाम ५ः२८ बजे श्रीहरिकोटा से लोन्च किया गया । इसका वजन करीब ६४० टन है । यह भुस्थैनिक कक्षा में ४००० किलो तक का पेलोड ले जा सकता है । जीएसएसलवी मार्क-३ अन्य देशो के चार टन श्रेणी के उपग्रहो को प्रक्षेपित करने की दिशा में भारत के लिए अवसर खोलेगा । इसरो के चेयरमैन एएस किरन कुमार ने लोन्च से पहले बताया की जीएसएलवी मार्क-३ को लोन्च करने का मुख्य उद्देश्य ज्यादा वजन वाले कम्युनिकेशन सैटलाइट जीएसएटी-१९ को जीटीओ में प्रवेश कराना है । जीएसएलवी मार्क-३ लोन्च करने के लिए उच्च गति वाले क्रायोजेनिक इंजन का इस्तेमाल किया गया है । बता दे कि करीब ३० साल की रिसर्च के बाद इसरो ने यह इंजन बनाया था । इसरो के पूर्व प्रमुख के राधाकृष्ण ने कहा कि यह प्रक्षेपण बडा मील का पत्थर है क्योकि इसरो प्रक्षेपण उपग्रह की क्षमता २.२-२.३ टन से करीब दोगुना करके ३.५-४ टन कर रहा है । उन्होंने कहा कि आज अगर भारत को २.३ टन से अधिक के संचार उपग्रह का प्रक्षेपण करना हो तो हमे इसके प्रक्षेपण के लिए विदेश जाना पडता है । जीएसएलवी मार्क तीन कामकाज शुरु करने के बाद हम संचार उपग्रहो के प्रक्षेपण में आत्मनिर्भर हो जाएगे और विदेशी ग्राहको को लुभाने में भी सफल होगे ।

Related posts

बिहार के निर्माण के लिए नया अध्याय शुरू करने का समय : सोनिया गांधी

editor

“ખર્ચા પે ચર્ચા” કરે મોદી : રાહુલ ગાંધી

editor

બસપા સાથે ગઠબંધન કરવા સપા તૈયાર : અખિલેશ

aapnugujarat

Leave a Comment

URL