Aapnu Gujarat
તાજા સમાચાર રાષ્ટ્રીય

१५ जिलों में खरीफ सिंचाई के लिए नर्मदा का पानी दिया जाएगा

राज्य के सुखाग्रस्त इलाकों की समीक्षा करने आज राज्य सरकार बैठक में महसुल मंत्री भूपेन्द्रसिंह चूडासमा की अध्यक्षता में वरिष्ठ मंत्री और उच्च अधिकारियों की बैठक में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के मार्गदर्शन में दो महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं । राज्य में सिंचाई, पीने का पानी और पशुधन के लिए घासचारें की संभावित आवश्यकता को ध्यान में लेकर राज्य सरकार के दो महत्वपूर्ण निर्णय मुख्यमंत्री रुपाणी की सूचना से एक जून से सरदार सरोवर नर्मदा योजना कमांड इलाकें में खरीफ के आयोजन के लिए सिंचाई का पानी छोडने का निर्णय लिया गया है । जबकि दूसरा निर्णय राज्य के अछतग्रस्त १९ जिले के रजिस्टर्ड हुए पांजरापोल और गौशाला के पशुधन को प्रतिदिन प्रति पशु चार किलो घासचारा दो रूपये में देने का निर्णय लिया है । अछत राहत पर राज्य सरकार पेटा समिति की आज जलआपूर्ति मंत्री बाबूभाई बोखिरिया तथा संबंधित उच्च अधिकारियों की उपस्थिति में गांधीनगर में हुई बैठक में लिए गए निर्णय अनुसार खरीफ मौसम में बुवाई के लिए नमर्दा कमांड इलाके में आते जिले नर्मदा, भरुच, पंचमहाल, छोटाउदेपुर, बडौदा, खेडा, अहमदाबाद, महेसाणा, बनासकांठा, पाटण, गांधीनगर, भावनगर, बोटाद, मोरबी, सुरेन्द्रनगर जिले में खरीफ मौसम के लिए आवश्यकता होने पर चार लाख हेक्टर इलाके में नर्मदा का पानी खरीफ सिंचाई के लिए दिया जा सकेगा । राज्य में अछतग्रस्त घोषित किए गए गांवों में सुरेन्द्रनगर के चोटीला तहसील के छह गांव, राजकोट जिले के विछिया तहसील के १२ गांव मिलाकर कुल १८ गांव शामिल है जिनमें राहत किंमत पर घासचारा उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है ।

Related posts

Rajiv Gandhi assassination case: Nalini Sriharan released on parole of 30-days from Vellore central prison

aapnugujarat

Advocate Darvesh Yadav murder case: SC refuses CBI probe

aapnugujarat

गोहत्या पर हो उम्रकैद, राष्ट्रीय पशु घोषित हो गाय : राजस्थान हाईकोर्ट

aapnugujarat

Leave a Comment

URL