Aapnu Gujarat
શિક્ષણ

कक्षा-१२ सामान्य प्रवा : अंग्रेजी माध्यम का सबसे अधिक ७४.२० प्रतिशत परिणाम रहा

गुजरात माध्यमिक और उच्चत्तर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड गांधीनगर द्वारा मार्च २०१७ मं ली गई कक्षा-१२ सामान्य प्रवाह की परीक्षा का परिणाम आज भारी उत्सुकता के बीच घोषित कर दिया गया हैं । गुजरात में कक्षा-१२ सामान्य प्रवाह का परिणाम आज घोषित किए जाने के बाद इस बार अंग्रेजी माध्यम का परिणाम सबसे अधिक ७४.२० प्रतिशत दर्ज किया गया हैं। जबकि गुजराती माध्यम का परिणाम ५५.४२ प्रतिशत दर्ज हुआ हैं । अंग्रेजी माध्य के विद्यार्थी आगे रहे हैं । आज परिणाम जारी होने के बाद विभिन्न माध्यम में परिणाम पर जोरदार चर्चा देखने मिली हैं । गुजराती और हिन्दी माध्यम के विद्यार्थियों की संख्या भी कम दर्ज हो रही हैं । अंग्रेजी माध्यम का परिणाम अब लगातार बढ़ रहा हैं । आधुनिक समय में अभिभावकों में अंग्रेजी माध्यम में अपने बच्चों को पढ़ाने का क्रेज बढ़ रहा हैं । जिसके कारण अंग्रेजी माध्यम का परिणाम बढ़ रहा हैं । अंग्रेजी माध्यम में कुल २६८५९ विद्यार्थी दर्ज हुए हैं । जिसमे से २६६३३९ विद्यार्थी परीक्षा मंे उपस्थित रहे थे । अंग्रेजी माघ्यम में ए टु ग्रेड प्राप्त करने वाले विद्यार्थी की संख्या ११८०, बी वन ग्रेड प्राप्त करने वालों की संख्या ३०९२, बी टु ग्रेड प्राप्त करने वालों की संख्या ४५५२, सी वन ग्रेड प्राप्त करने वालों की संख्या ५५१८ दर्ज हुई हैं । जबकि गुजराती माध्यम में कुल ४६२६०८ विद्यार्थी दर्ज हुए हैं । गुजराती माध्यम में ए वन ग्रेड प्राप्त करने वालों की संख्या २१९ दर्ज हुई है । जबकि ए टु ग्रेड प्राप्त करनेवालों की संख्या ५६७८, बी वन प्राप्त करनेवालों की संख्या २७५८३, बी टु ग्रेड प्राप्त करने वाले विद्यार्थी की संख्या ५७१९७ दर्ज हुई हैं । हिन्दी माध्यम में इस बार १२९९९ विद्यार्थी दर्ज हुए हैं । जिसमें से ए वन ग्रेड प्राप्त करने वाले विद्यार्थी की संख्या सिर्फ एक दर्ज हुई हैं । ए टु ग्रेड प्राप्त करने वाले विद्यार्थी की संख्या १४०, बी वन ग्रेड प्राप्त करने वालों की संख्या ६६५, बी टु ग्रेड प्राप्त करने वालों की संख्या १५८५ सी वन ग्रेड प्राप्त करने वाले विद्यार्थी की संख्या २६०३ दर्ज हुई हैं । माध्यम अनुसार रिपोर्ट पर नजर की जाए तो अंग्रेजी माघ्यम के क्रेज विद्यार्थियों में अधिक देखने मिला हैं । अंग्रेजी माध्यम का कुल परिणाम ७४.२० प्रतिशत दर्ज हुआ हैं । हिन्दी माध्यम में कम विद्यार्थी उपस्थित रहने पर इसे लेकर चर्चा का दौर जारी हैं । एक समय था जब गुजराती और हिन्दी माध्यम के विद्यार्थियों की संख्या सबसे अधिक थी । अंग्रेजी माध्यम के विद्यार्थी परिणाम में आगे रहे हैं । हिन्दी और गुजराती माध्यम के विद्यार्थी दिन प्रतिदिन पीछे रह रहे हैं । हिन्दी और गुजराती दोनों भाषा पर अब ध्यान दिया जाए ऐसी संभावना हैं । क्योंकि गुजरात मंे स्थानिक भाषा और देश की राष्ट्र भाषा हिन्दी का महत्व कम हो रहा हो ऐसा लग रहा हैं । अभिभावक भी इसके लिए आगे बढ़ वह आवश्यक हैं ।आगामी दिनों में अंग्रेजी माध्यम के विद्यार्थी और आगे बढ़़े ऐसी संभावना हैं ।

Related posts

નીટ કાઉન્સિલિંગના નામે સરકારે કરોડો વસૂલ્યાં, ફી નિર્ધારણ પર ઉઠ્યાં સવાલો

aapnugujarat

ધોરણ-૧૦ પેપર તપાસનાર દ્વારા માર્ક મૂકવામાં ભૂલ

aapnugujarat

ધોરણ-૧૨ સાયન્સ સેમેસ્ટરનું ૯મી મેના દિને પરિણામ જાહેર

aapnugujarat

Leave a Comment

UA-96247877-1