Aapnu Gujarat
તાજા સમાચારરાષ્ટ્રીય

सेना युद्ध जैसे क्षेत्र में फैसले लेने के लिए स्वतंत्रः जेटली

जिस तरह से कश्मीर में पिछले कुछ दिनो से हालात बने हुए है उस पर रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने उमर अब्दुल्ला को उनकी ही भाषा में करारा जवाब देते हुए कहा कि जब आप युद्ध जैसी स्थिति में होते हो तो उनको क्या करना चाहिये ये सांसदो से पुछने की जरुरत नही है । कश्मीर में पथराव करने वालो के खिलाफ कथित रुप से मानव ढाल के तौर पर एक व्यक्ति को जीप के आगे बांधने वाले मेजर को लेकर उठे विवाद के बीच रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सेना के अधिकारी युद्ध जैसे क्षेत्र में निर्णय करने के लिए स्वतंत्र है । जेटली ने मेजर लीतुल गोगोई के कदम का विशेष जिक्र करते हुए कहा कि सैन्य का समाधान सैन्य अधिकारी ही मुहैया कराते है । युद्ध जैसे क्षेत्रे में जब आप हो तो स्थितियो से कैसे निबटा जाए, हमें अपने सैन्य अधिकारीयो को निर्णय लेने की अनुमति देनी चाहिए । मतलब साफ है कि घाटी में हालात सामान्य करने के लिये मिलिट्री को कडे कदम उठाने की मंजुरी भी दे सकती है । सुत्रो के मुताबिक केंद्र सरकार और जम्मु कश्मीर की राज्य सरकार मिलकर अलगाववादियो और पत्थरबाजो से सख्ती से निपटने के लिये एक्शन प्लान भी तैयार कर रही है ।

Related posts

લોકસભા ચૂંટણી સુધી જેપી નડ્ડાને ભાજપના અધ્યક્ષ તરીકેે ચાલુ રખાય તેવી શક્યતા

aapnugujarat

પીએમ મોદીએ ઑટોગ્રાફ આપેલ યુવતી માટે મૂરતિયાઓની લાગી લાઈન!!

aapnugujarat

ચૂટણી પંચ પર હત્યાનો કેસ દાખલ કરો : મદ્રાસ હાઇકોર્ટ

editor

Leave a Comment

UA-96247877-1