Aapnu Gujarat
તાજા સમાચાર રાષ્ટ્રીય

तीन साल बाद भी कायम है मोदी लहरः सर्वे

पुरे देश में अभी भी मोदी लहर कायम है । २०१४ के मुकाबले कई राज्यो में पीएम नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता में इजाफा हुआ है । जनता भी मोदी सरकार के कामकाज से संतुष्ट है । तीन साल पुरा करने जा रही मोदी सरकार के लिए यह रिपोर्ट कार्ड सामने आया है एनबीटी सी वोटर के सर्वे में । इस सर्वे के अनुर्सा तीन साल बाद भी एनडीए सरकार लोकप्रियता के रथ पर सवार है और ७५ फीसदी से भी अधिक लोग मोदी से पुरी तरह खुश है । हालांकि इस सर्वे में तीन साल बाद सरकार के लिए चिंताजनक बात सिर्फ इतनी है कि उनके सांसदो के प्रति उनके संसदीय क्षेत्रो में आम लोगो में नाराजगी बढ रही है । वे मोदी सरकार की एकमात्र कमजोर कडी और चिंता की लकीर बन कर निकल रहे है । एनबीटी-सी वोटर सर्वे देश के सभी संसदीय क्षेत्रे के ५७,१९८ लोगो के बीच इसी महीने किया गया था । कश्मीर से कन्याकुमारी तक मोदीमय माहौल सर्वे के अनुसार ३ साल बाद पीएम मोदी की लोकप्रियता २०१४ के मुकाबले अधिक है । इस लोकप्रियता की खास बात है कि पुरे देश में मोदी की लोकप्रियता एक समान बनी हुई है । उन राज्यो में भी जहां बीजेपी की उपस्थिति न के बराबर है वहां भी पीएम मोदी की व्यक्तिगत लोकप्रियता किसी भी दुसरे नेता से अधिक है । तीन सलाह बाद बीजेपी की सबसे बडी बढत ऐसे राज्यो में मिलती दिख रही है जहां उसका जनाधार कम है और पार्टी विस्तार करने की कोशिश करती दिख रही है । मसलन ओडिसा और तेलंगाना जैसे राज्यो में पीएम मोदी और एनडीए सरकार के लिए लोकप्रियता में तेजी से इजाफा हुआ है । पश्विम बंगाल में भी सरकार और पीएम मोदी से खुश है । जिन राज्यो में गैर बीजेपी के सांसद अधिक है वहा उनके सांसदो के प्रति लोगो में कम अंसतोष है और वह राज्य ऐसे है जहा बीजेपी अभी कमजोर है । जैसे पश्विम बंगाल, केरल, तमिलनाडु, जैसे राज्यो में स्थानीय सांसद के खिलाफ अंसतोष कम है । इसका संकेत है कि राजनीतिक रुप से बीजेपी को यहा अभी राजनीतिक घुसपैठ करने में बहुत परिश्रम होगा । बिहार, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यो में स्थानीय सांसदो के प्रति असंतोष तेजी से बढा है । सबसे बडी बात है कि २०१४ में बीजेपीृ को सबसे अधिक सींटे वही मिली थी । अभी २८२ में १०० से अधिक सीट बीजेपी को इन्ही दो राज्यो में मिली थी । अब युपी में बीजेपी की सरकार भी भारी बहुमत से बनी है । बिहार में २०१४ के बाद महागठनबंधन बन गया था और युपी में अब इसकी कोशिश हो रही है । लेकिन इसी सर्वे के अनुसार दोनो राज्यो में पीएम मोदी के कामकाज से ८० फीसदी से भी अधिक लोग खुश है जो कि अभुतपूर्व नंबर है । दिल्ले में स्थानीय सांसद के प्रति भी असंतोष काफी बढा है । सर्वे के अनुसार ५० फीसदी से कम भी लोग लोकर एमपी के कामकाज से संतुष्ट है । लेकिन दिल्ली में ७० फीसदी से अधिक लोग पीएम नरेन्द्र मोदी के कामकाज से खुश है । सर्वे के अनुसार २०१९ का आम चुनाव भी नरेन्द्र मोदी प्रेजिडेंशल स्टाइल में अपने दम पर लडेंगे । जिस तरह का नंबर है उस हिसाब से दो साल के बाद पीएम मोदी की लोकप्रियता में इजाफा ही हुआ है । नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राइक जैसे मुद्दो से नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता तेजी से बढी है ।

Related posts

देश में कोरोना का कहर जारी : 24 घंटे में मिले 45,230 नए केस

editor

સુનંદા પુષ્કર મૃત્યુ મામલે થરુર વિરુદ્ધ આરોપો ઘડવાની સુનાવણી મોકૂફ

editor

શત્રુઘ્ન સિંહાએ વરિષ્ઠ નેતા અડવાણીનો બચાવ કર્યો

aapnugujarat

Leave a Comment

URL