Aapnu Gujarat
તાજા સમાચાર રાષ્ટ્રીય

कोल स्कैंम में मनमोहन सिंह को दिए गए तथ्य गलतःकोर्ट

कोयला ब्लॉक धोटाला से जुड़े मामलों की सुनवाई कर रही एक विशेष अदालत ने कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के पास यह मानने की कोई वजह नहीं थी कि तत्कालीन कोयला सचिव एच सी गुप्ता ने उनके सामने एक ऐसी कंपनी को मध्यप्रदेश में कोयला ब्लोक आवंटित करने की सिफारिश की थी जो उस समय आवंटन के नियमों को पूरा नहीं करती थी । विशेष जज भरत पराशर ने गुप्ता को मध्यप्रदेश में थेसगोरा बी रद्रपुरी कोयला ब्लोक कमल स्पोन्ज स्टील एवं पावर लि. को आवंटित करने में अनियमितताओं का दोषी ठहराया हैं । जज ने कहा कि तत्कालीन कोयला सचिव ने पूर्व प्रधानमंत्री के सामने गलत तथ्य रखे । उश समय सिंह के पास कोयला मंत्रालय का भी प्रभार था । उन्हें जांच समिति की सिफारिशों के आधार पर ही कदम उठाना था । गुप्ता इस समिति के चेयरमैन थे । अदालत ने कहा कि यह मानने की कोई वजह नहीं है कि तत्कालीन प्रधानमंत्री यह समझते कि दिशानिर्देशों का अनुपालन नहीं किया गया हैं । अदालत ने कहा कि सिंह ने जांच समिति की सिफारिशों पर इस मान्यता के आधार पर विचार किया कि कोयला मंत्रालय में आवेदनों की उनकी पात्रता के हिसाब से जांच की गई होगी और समिति ने दिशानिर्देशों का पूरी तरह अनुपालन किया होगा । अदालत ने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री को कोयला मंत्री के रुप में जांच समिति की सिफारिशों की फाइल भेजते समय किसी भी अधिकारी ने कही पर यह उल्लेख नहीं किया कि आवेदनों की उनकी पात्रता और पूर्णता के लिए जांच नहीं की गई हैं । गुप्ता ३१ दिसम्बर, २००५ से नवम्बर, २००८ तक कोयला सचिव रहे थे ।

Related posts

લોકસભાનું પ્રથમ સત્ર ૬ જૂનથી શરૂ થશે

aapnugujarat

‘રસીકરણ-સફળ : ૧૦,૦૦૦માંથી માત્ર ૨-૪ જ કોરોના-પોઝિટીવ’

editor

ગૌરક્ષા મુદ્દે કાનૂન બનાવવા સરકારને સુપ્રીમનો આદેશ

aapnugujarat

Leave a Comment

URL