Aapnu Gujarat
બિઝનેસ

पतंजलि से मुकाबले को हिन्दुस्तान यूनिलीवर ने बनाई १५ टीमें

योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद से मिल रही जोरदार टक्कर से निपटने के लिए हिन्दुस्तान युनिलीवर ने १५ टीमों का गठन किया है । दिग्गज मल्टीनैशनल कंपनी ने हर कैटिगिरी से इन टीमों का गठन किया है और सभी अलग अलग टारगेट दिया है । बदलते कारोबारी माहौल और ग्राहकों की पसंद को ध्यान में रखते हुए सेल्स और इनोवेशन पर विशेष ध्यान देने की तैयारी है । हर टीम को कन्ट्री कैटिगीरी बिजनस टीम कहा जाएगा । इसमें रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट, सेल्स, मार्केटिंग, सप्लाइ चेन और फाईनान्स जैसे डिपार्टमेंट्‌स शामिल हैं । ये सभी टीमें स्वतंत्र रूप से आंत्रप्रेन्योर माइन्डसेट के साथ काम करेंगी । कंपनी का यह नया स्ट्रक्चर उसके पुराने मॉडल से पुरी तरह अलग हैं, जिसमें सभी कैटिगिरीज में सेन्ट्रल मार्केटिंग, ब्रैंड और सेल्स टीमें थी । नेट सेल्स में ८ प्रतिशत की ग्रोथ के नतीजों के अगले ही दिन कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव मेहता ने बताया कि इनका नेतृत्व सीसीबीटी हेड्‌न्स करेंगे । इनमें से ज्यादातर ३० साल की उम्र के करीब है और अगले एक साल के लिए बने प्लान को पूरा करने में सक्षम हैं । हमारा काम इनके ेंटर की तरह सक्रिय रहना और सलाह देना हैं । मेहता ने कहा कि सीसीबीटी में शामिल किए गए फन्कशनल रिप्रजन्टेटिव्स अपने कार्य और टीम के अजेंडे में तालमेल स्थापित करेंगे । करीब दो साल पहले डव शैम्पू और लक्स साबुन बनाने वाली कंपनी नेपूरे देश को मार्केट को १४ क्लस्टर्स में बांट दियाथा । इसके अलावा हाई ग्रोथ मार्केट के तौर पर विकसित हो रहे सेन्ट्रल इन्डिया में पांचवी शखाशा खोली थी । उस वक्त कंपनी ने दावा किया था कि क्षेत्रीय स्तर पर मिल रही टक्कर से निपटते हुए उसने अपने प्रॉडक्ट्‌स के मार्केट शेयर को ९० प्रतिशत तक पहुंचा दिया था ।

Related posts

सुपरकंप्यूटर : भारतीय के कमाल पर अमेरिका दंग

aapnugujarat

પેટ્રોલ-ડીઝલે વધાર્યો સપ્ટેમ્બરમાં જથ્થાબંધ મોંઘવારી દર

aapnugujarat

પાન કાર્ડને આધાર સાથે લિંક નહી કરાવ્યું તો નાણાંકીય વ્યવહારો પર પડશે અસર

editor

Leave a Comment

URL