मैं सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बेहद खुश हूं : हादिया

Font Size

कथित लव जिहाद मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अपने गृह राज्य केरल पहुंची हादिया उर्फ अखिला अशोकन ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोर्ट के फैसले पर खुशी जताई और दावा किया कि उनके परिवार वालों ने उन्हें घर में बंद कर दिया था । इस दौरान उन्हें काफी प्रताड़ना से गुजरना पड़ा । उन्होंने कहा कि वह मुसलमान के रूप में जीवन बिताना चाहती थी, इसलिए वह सुप्रीम कोर्ट गई । हादिया ने कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बेहद खुश हैं । उन्होंने कहा, मुझे घर में बंद कर दिया गया था, इसलिए मुझे कुछ भी पता नहीं था । बाहर निकली तो पता चला कि कितने लोग मेरे लिए काम कर रहे हैं । मैं उन सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहती हूं जिन्होंने मेरी स्वतंत्रता के लिए लडाई लडी । मैं अपने स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड रही थी, ईसीलिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया ।
उन्होंने कहा, मैं किसी के ऊपर भी आरोप नहीं लगाना चाहती हूं । मेरे दो साल केवल कानूनी लड़ाई लड़ने में बीत गए । इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने मुझे अपने पति से मिलने की अनुमति दी । अतः मुझे न्याय मिला । उन्होंने कहा, संविधान उन्हें अपना पति चुने की अनुमति देता है लेकिन मुझे अपने ही घर में बंद कर दिया गया । हादिया ने कहा, मुझे १०० फीसदी विश्वास है कि मैंने कोई गलती नहीं की लेकिन मुझे घर में कैद कर दिया गया जो इस देश में नहीं होना चाहिए । हादिया ने कहा कि वह दो कारणों से सुप्रीम कोर्ट गई । पहला कारण था कि वह एक मुसलमान के रूप में जीवन बिताना चाहती है और दूसरा कराण यह था कि वह अपने पार्टनर के साथ रहना चाहती थी । हादिया ने कहा, अब जब भी मैं घर में रुकती हूं अच्छा लगता हैं । मैं कोर्ट के फैसले से बेहद खुश हूं ।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *