Aapnu Gujarat
તાજા સમાચાર રાષ્ટ્રીય

इस बार रेकोर्ड स्तर पर पहुंच सकता है अनाज का उत्पादन

देश में खाद्यान्न का उत्पादन जुन २०१७ में समाप्त होने वाले क्रोप ईयर में रेकोर्ड स्तर पर पहुंचने का अनुमान है । पिछले साल अच्छे मोनसुन के कारण गेहुं, धान, मोटे अनाज और दालों के उत्पादन में वृद्धि होने की संभावना है । एग्रीकल्चर मिनिस्ट्री के बडी फसलो के लिए तीसरे अग्रिम अनुमान में उत्पादन २७.३३ करोड टन रहने की उम्मीद जताई गई है । यह दुसरे अग्रिम अनुमान से ०.५१ पर्सेंट अधिक है । इस वर्ष काृ उत्पादन २०१३-१४ के रेकोर्ड उत्पादन से ३.१५ पर्सेंट अधिक होगा । पहला अग्रिम अनुमान सितंबर २०१६ में जारी किया गया था । इसके बाद फरवरी में दुसरा अग्रिम अनुमान दिया गया था । २०१६-१७ के लिए दुसरे अग्रिम अनुमान में खाद्यान्न का कुल उत्पादन २७.१९ करोड टन रहने की संभावना जताई गई थी । एग्रीकल्चर मिनिस्ट्री ने बताया, पिछले वर्ष मोनसुन के दौरान अच्छी वर्षा होने और सरकार की और से पोलिसी के तहत की गई कोशिशो से देश में मौजुदा वर्ष में खाद्यान्न का रेकोर्ड उत्पादन होगा । सरकार को धान का उत्पादन इस क्रोप ईयर में १०.९१ करोड टनृ पर पहुंचने की उम्मीद है । यह २०१३-१४ में गेहु का ९.५८ करोड टन उत्पादन हुआ था, जो अभी तक का सबसे अधिक है । पिछले वर्ष यह आंकडा ९.२२ करोड टन का था । दालो का उत्पादन २.२४ करोड टन हो सकता है । जो दुसरे अग्रिम अनुमान से १.१७ पर्सेंट अधिक है । मिनिस्ट्री ने बताया कि दालों के रकबे में वृद्धि और सभी प्रमुख दालों की उत्पादकता बढने से पैदावार में वृद्धि होगी । मोटे अनाज का उत्पादन ४.४३ करोड टन रह सकता है ।
सरकार को उम्मीद है कि कोटन का उत्पादन दुसरे अग्रिम अनुमान से ०.२२ पर्सेंट बढकर ३.२५ करोड बेल का होगा । एक बेल में १७० किलोग्राम होता है । गन्ने का उत्पादन ३०.६० करोड टन रह सकता है । यह दुसरे अग्रिम अनुमान से १.२७ पर्सेंट कम है । पिछले गन्ने का उत्पादन ३४.८४ करोड टन का था ।

Related posts

Just 10% of 15,000 labourers working in construction industry to registered themselves with PMC

aapnugujarat

પેટ્રોલ – ડીઝલનાં ભાવ વધ્યા

editor

બિહારમાં કોંગ્રેસ નહીં RJD મોટાભાઈ તરીકે હોવાનો દાવો

aapnugujarat

Leave a Comment

URL