Aapnu Gujarat
તાજા સમાચાર રાષ્ટ્રીય

गरीबों का केस मुफ्त लड़कर देश सेवा में योगदान दे वकीलः पीएम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि टेक्नोलोजी से हमारी दुनिया तेजी से बदल रही है और हमें इस बदलाव से खुद को जोड़ना होगा । प्रधानमंत्री ने वकीलों से आह्वान किया कि वे देश सेेवा में अपना योगदान करें । न्यायपालिका में सुधार के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि अब छुट्टियां कम हो रही हैं और टेक्नोलोजी की मदद से इसमें मुकदमों को निपटाने में आसानी हो रही हैं । सुप्रीम कोर्ट के इंटीग्रेटेड केस मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम (आईसीएमआईएस) का उद्धाटन करते हुए प्रधानमंत्री ने वहां यह बाते कही । पीएम ने कहा कि देश बदल रहा हैं । छुट्टी में भी लोग काम कर रहे हैं । १० मई को १८५७ की आजादी का संग्राम शुरु हुआ था । इलाहाबाद में चीफ जस्टिस ने विस्तार से आंकड़े प्रस्तुत किए थे और देश में जो लंबित केस हैं उसे देखते हुए न्यायपालिका को कहा था कि छुट्टियों में भी काम कीजिए । सुनकर आनंद आया कि सुप्रीम कोर्ट और दूसरे कोर्ट में छुट्टियों में काम किया जा रहा हैं । इसमें जिम्मेदारी का अहसास होता हैं तो लोगों के मन में भी भाव आते हैं । न्यू इंडिया के लिए ये जरुरी हैं । पीएम ने कहा कि न्यायिक व्यवस्था में टेक्नोलोजी का आना डिजिटल इंडिया के लिए बहुत बड़ी सेवा का काम करेगा । न्यायपालिका के क्षेत्र में भी तकनीकी का क्षेत्र विस्तार हो गया हैं । मोबाइल रिकोर्ड और सीसीटीवी व फॉरेसिंक तकनीक का बड़ा रोल हो गया हैं । इंटरनेट के जरिए याचिका दर्ज करने की प्रक्रिया शुरु । न्यायपालिका में सुधार के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि जजों ने अपनी छुट्टिया कम की हैं । उन्होंने इसके लिए जजों का आभार भी जताया । प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इसके पहले कांग्रेस के शासन में बड़ा मसला यह था कि साल में ९ की बजाए १२ सिलंडर दिए जाए । सरकार बनने के बाद मैने लोगों से अपील की तो देश के १.२० करोड़ परिवारों ने गैस सब्सिडी छोड़ दी ।

Related posts

કોરોનાના કેસ ૩ કરોડને પાર : ભારત વિશ્વમાં બીજા ક્રમે

editor

किसान दिवस पर बोले रक्षामंत्री, ‘सरकार अन्नदाताओं से कर रही बात, जल्द वापस लेंगे आंदोलन’

editor

पाक. अधिकृत कश्मीर का क्या होगा : अखिलेश

aapnugujarat

Leave a Comment

URL